हृदय रोग के लिए हेल्थ इंश्योरेंस क्यों आवश्यक है?

HEART MEDICLAIM


why we need health insurance for heart diseases in hindi

हृदय रोग गंभीर स्थिति है जो उचित चिकित्सा देखभाल के बिना घातक परिणाम ला सकते हैं। भारत में पिछले कुछ दशकों में हृदय रोगों के कारण होने वाली मौतों की संख्या खतरनाक दर से बढ़ी है।

महंगी दवाओं से लेकर सर्जरी तक, देश में दिल से जुड़ी बीमारियों के लिए इलाज करवाना विशेषकर मध्यमवर्गीय परिवारों के लिए भारी पड़ सकता है। आजकल, अनुकूलित हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी उपलब्ध हैं जो हृदय रोगों के लिए कवरेज प्रदान करती हैं और परिवार के वित्त की रक्षा करती हैं।

‘केयर हार्ट’ केयर हेल्थ इंश्योरेंस द्वारा एक स्वास्थ्य योजना है जो पहले से मौजूद हृदय रोगों को कवर करती है। इस तरह की हृदय मेडिक्लेम हृदय रोगियों के लिए अत्यधिक फायदेमंद हैं, जो किसी भी नेटवर्क अस्पतालों में कैशलेस उपचार करवा सकते हैं और आसानी से ठीक होने के लिए रास्ता बना सकते हैं।

>>Check: हृदयरोग: प्रकार, कारण और उपचार को जानें

स्वास्थ्य बीमा योजनाओं को क्यों चुना जाना चाहिए

  • प्रमुख हृदय रोगों के लिए कवर: हृदय रोगियों के लिए हेल्थ इंश्योरेंस की सलाह दी जाती है क्योंकि वे गंभीर हृदय संबंधी स्थितियों के लिए चिकित्सा व्यय के लिए कवरेज प्राप्त कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, पहली बार की गई बाईपास सर्जरी, एंजियोप्लास्टी, पेसमेकर रिप्लेसमेंट, वॉल्व रिप्लेसमेंट, कार्डियोमायोपैथी का इलाज और रूमेटिक हार्ट डिजीज आदि।
  • अस्पताल के पूर्व और बाद  में भर्ती के लिए कवर: स्वास्थ्य योजनाओं का एक प्रमुख लाभ यह है कि वे न केवल एक मरीज के लिए अस्पताल में भर्ती शुल्क को कवर करते हैं, बल्कि पूर्व-और-बाद के अस्पताल में भर्ती होने के खर्च जैसे ओपीडी का खर्च, एम्बुलेंस का खर्च और अधिवास देखभाल का खर्च भी शामिल हैं।
  • कैशलेस उपचार: एक हृदय रोगी को अप्रत्याशित जटिलता के कारण शीघ्र चिकित्सा की आवश्यकता हो सकती है। उन्हें आपातकालीन अस्पताल में भर्ती की आवश्यकता है। सर्जरी जैसे मामलों में, अस्पताल में भर्ती होना पहले से तय ही होता है। दोनों ही मामलों में, रोगी स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी के तहत कैशलेस इलाज सुविधा के पात्र है, बशर्ते वह एक नेटवर्क अस्पताल में भर्ती हो।
  • स्वास्थ्य जांच: दिल की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति के लिए स्वास्थ्य की निरंतर निगरानी और नियमित चिकित्सा परीक्षणों की आवश्यकता है। ‘केयर हार्ट’ जैसी स्वास्थ्य योजनाएं वार्षिक कार्डियक चेक-अप प्रदान करती हैं जो रोगी को भारी खर्चों से बचा सकती हैं।

हृदय रोगियों के लिए स्वास्थ्य योजनाएं खरीदते समय, यह देखें कि क्या वे वैकल्पिक उपचार, कर छूट और ‘नो क्लेम’ बोनस जैसे अन्य लाभों के लिए कवर प्रदान करते हैं। ये अतिरिक्त लाभ वित्तीय बचत में मदद करते हैं।

दिल की बीमारी के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना चुनने के लिए टिप्स

यदि आप या आपके परिवार के किसी सदस्य की दिल की बीमारी है, तो आपको एक ऐसी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी चुनना होगा, जो उपरोक्त सभी लाभ प्रदान करे। इस तरह, आपके हृदय रोग के उपचार खर्चों का बोझ बहुत कम हो सकता है और आप सर्वोत्तम चिकित्सा देखभाल प्राप्त करने के बारे में तनाव-मुक्त भी हो सकते हैं। इसके अलावा, इस तरह की बीमा योजनाओं में आजीवन नवीकरणीयता जैसी विशेषताएं भी हैं जो एक फायदा है।

हृदय रोगों के लिए स्वास्थ्य बीमा योजनाएं 3 लाख रुपये से लेकर 10 लाख रुपये तक की अलग-अलग कवरेज राशि प्रदान करती हैं। सही योजना चुनते समय आपको कुछ कारकों को ध्यान में रखना चाहिए जैसे कि हृदय रोगों के प्रकार और आपके शहर में उपचार के खर्च।

सह-भुगतान और प्रतीक्षा अवधि जैसे मानदंड देखना याद रखें।इसके अलावा, पॉलिसी का चयन करते समय, पॉलिसी दस्तावेज को अच्छी तरह से पढ़कर बहिष्करणों की जांच करें। इस तरह आप किसी भी आपात स्थिति में अप्रत्याशित चिकित्सा लागत वहन करने के लिए वित्तीय रूप से तैयार हो सकते हैं।

डिस्क्लेमर: हृदय रोगों  के दावों की पूर्ति पॉलिसी के नियमों और शर्तों के अधीन है।



Reach out to us
Whatsapp 8860402452

GET FREE QUOTE

+91
verified