जानिए क्यों ज़रूरी है वरिष्ठ नागरिकों के लिए स्वास्थ्य बीमा

HEALTH INSURANCE



उम्र सिर्फ एक संख्या है जब आप अपने दिल से युवा हैं - 60 वर्ष का मतलब है कि आपने अपने जीवन के सुनहरे दिनों में प्रवेश किया है, जहां आप एक स्वतंत्र आत्मा की तरह हैं और कोई सामाजिक प्रभाव नहीं है। हालांकि, भगवान न करे, पर कई स्वास्थ्य कारणों के कारण,  इस बात की अधिक संभावना है कि आपके अस्पताल के दौरे इस उम्र में बढ़ सकते हैं। जैसे-जैसे चिकित्सा मुद्रास्फीति बढ़ रही है, एक बार का अस्पताल में भर्ती आपके धन को ख़तम कर सकता है, खासकर जब पोस्ट-रिटायरमेंट आपके पास कोई निश्चित आय नहीं है। लेकिन, अगर आपके पास हेल्थ इंश्योरेंस है तो आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है। आइए समझते हैं कि क्यों वरिष्ठ नागरिकों के लिए स्वास्थ्य बीमा ज़रूरी है।

वरिष्ठ नागरिकों के लिए चिकित्सा बीमा क्या है?

यह 60 साल या उससे अधिक उम्र के वरिष्ठ नागरिकों के लिए बनाया गयी हेल्थ इन्शुरन्स  है। इस योजना के तहत, वृद्ध लोगों को नियोजित अस्पताल में भर्ती होने या चिकित्सीय आपात स्थितियों के लिए कवरेज मिलता है। इसमें कई पुरानी, गंभीर और लाइफस्टाइल  वाली बीमारियों जैसे केंसर, किड्नी फेल्यूर, हार्ट एयिलमेंट, स्ट्रोक, आदि शामिल हैं। अस्पताल में प्रवेश से लेकर सर्जरी, दवा और चिकित्सा तक, इसमें कवर किया जाता है। इसके अलावा, यह ऐड-ऑन लाभ भी देता है जो आपको इसकी प्राथमिक कवरेज को बढ़ाने में मदद करता है।

इसे भी पढ़े क्रिटिकल इलनेस हेल्थ इन्शुरन्स और सामान्य हेल्थ इन्शुरन्स जाने दोनों के बीच का अंतर

वरिष्ठ नागरिक स्वास्थ्य बीमा कैसे सुरक्षित रखता है?

बढ़ती चिकित्सा मुद्रास्फीति और उपचार की बढ़ती लागत को देखते हुए, वरिष्ठ नागरिकों के लिए हेल्थ इन्शुरन्स पुराने वयस्कों के लिए एक आवश्यकता बन गया है। जब आप बूढ़े हो जाते हैं तो आप पुरानी बीमारियों, गंभीर बीमारियों और यहां तक कि कोरोनोवायरस जैसी महामारी की चपेट में आ सकते हैं। हेल्थ  पॉलिसी  को सेवानिवृत्ति के बाद के जीवन के लिए एक महत्वपूर्ण निवेश माना गया है। नीचे पढ़ें इसके कुछ महत्वपूर्ण लाभ:

  • आपातकालीन परिस्थिति में अस्पताल में भर्ती के लिए कवरेज। इसमें इन-पेशेंट हॉस्पिटलाइज़ेशन, प्री और पोस्ट हॉस्पिटलाइज़ेशन और डॉमियिलियरी हॉस्पिटलिफ़िकेशन शामिल हैं।
  • बोझिल नकदी औपचारिकताओं के बिना नेटवर्क अस्पतालों में कैशलेस उपचार की सुविधा।
  • उपचार, दवा, चिकित्सा और डायलिसिस के आवर्ती लागत के लिए कवरेज जो बुजुर्ग लोगों का वित्तीय बोझ कम करता है।
  • वार्षिक स्वास्थ्य जांच का लाभ। इससे आप  बहुत पैसा बचा सकते हैं और अपने स्वास्थ्य पर भी नज़र रख सकते हैं। इन जांचों में शुगर टेस्ट, बीपी टेस्ट, किडनी फंक्शन टेस्ट, सीटी स्कैन, मूत्र परीक्षण और हार्ट चेक-अप शामिल हैं।
  • भारत के आयकर अधिनियम 1961 की धारा 80 डी के तहत, मेडिक्लेम बीमा पॉलिसी के लिए भुगतान किया गया प्रीमियम नियमों के अनुसार कर से छूट प्राप्त करने का अधिकार देता है। 
  • हेल्थ इन्शुरन्स कंपनियां एम्बुलेंस खर्च और अंग दाता को भी कवर करती हैं।

इसलिए, जीवन की इस दूसरी पारी को  अच्छे से खेलने के लिए सही हेल्थ पॉलिसी का चयन करना महत्वपूर्ण है। भारत में, वरिष्ठ नागरिक या तो किसी भी स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी को नहीं अपनाते  हैं या अपर्याप्त रूप से कवर किए जाते हैं। इसलिए, वरिष्ठ नागरिकों के लिए ज़रूरी है एक ऐसी चिकित्सा बीमा जो सिर्फ़ उनकी ज़रूरतों को ध्यान में रख कर बनाई गयी हो जैसे  केयर हेल्थ इंश्योरेंस (फॉर्मर्ली रेलिगेयर हेल्थ इंश्योरेंस) की कएर सीनियर वरिष्ठ नागरिक हेल्थ पॉलिसी। यह वरिष्ठ नागरिकों  के  लिए सबसे अच्छा विकल्प है। यह उनके मेडिकल खर्चों को कवर कर  उनको सभी स्वास्थ्य चिंताओं से दूर रखता है।